समस्तीपुर: अब होमगार्ड जवान दिखेंगे स्मार्ट और चुस्त-दुरुस्त, वर्दी की एकरूपता को लेकर हुई पहल

अब बिहार पुलिस की तरह जिले के होमगार्ड जवान स्मार्ट और चुस्त दुरुस्त दिखेंगे। होमगार्ड जवानों की वर्दी में एकरूपता लाने के लिए एक तय एजेंसी के द्वारा ही अब वर्दी की खरीद होगी। इतना ही नहीं, होमगार्ड ने वर्दी खरीदी या नहीं, इसकी भी समय-समय पर जांच होगी। होमगार्ड मुख्यालय ने सभी जिला समादेष्टा को डिमांड देने के लिए निर्देशित किया है। जिला समादेष्टा पदाधिकारी शशिकांत प्रसाद ने बताया कि एक होमगार्ड की ब्रांडेड यूनिफॉर्म पर करीब 3 हजार 960 रुपये खर्च का अनुमान है। प्रत्येक होमगार्ड जवानों को एक किट में दो सेट वर्दी, दो मोजा और एक जैकेट दिया जाएगा। वर्दी के लिए यह राशि जिले के होमगार्ड को उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिए मोंटी कार्लाे कंपनी से समझौता किया गया है।

गृहरक्षा वाहिनी संघ के जिलाध्यक्ष कामेश्वर राय ने बताया कि बिहार पुलिस के साथ ही होमगार्ड जवान पर सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी पूरी कर रहे है। डीजी मुख्यालय की ओर बिहार पुलिस तथा होमगार्ड जवानों में एकरुपता के लिए एक अच्छी पहल की गई। इससे जवानों में प्रतीकात्मक भाव समाप्त होगा और चुस्त दुस्त दिखेंगे। बता दें कि जिले में करीब 1 हजार 50 होमगार्ड जवान विभिन्न थानों व सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी पूरी कर रहे हैं। यूनिफार्म को लेकर विभागीय जवानों में काफी उत्साह है।

हर जवान को मिलते हैं 10 हजार रुपये

होमगार्ड के सभी जवानों को यूनीफॉर्म के लिए प्रत्येक दो वर्ष पर दस हजार रुपये उपलब्ध कराए जाते हैं। इससे जवान वर्दी, जूते, जैकेट, बेल्ट व टोपी खरीदेंगे। होमगार्ड के डीजी ने अपने आदेश में कहा है कि जिला कमांडेंट को नियमित रूप से इसकी जांच करनी है कि गृह रक्षक वर्दी में ड्यूटी कर रहे.

वर्दी की एकरूपता को लेकर हुई पहल

दरअसल, होमगार्ड जवानों को अब यूनीफॉर्म के लिए 10 हजार की राशि सीधे उनके खाते में दे दी जाती है। अफसरों के पास शिकायत मिली कि कई होमगार्ड जवान यूनीफॉर्म नहीं खरीदते और पुरानी वर्दी में ही ड्यूटी करते हैं, इससे उनकी छवि खराब होती है। इसके विपरीत कई जवान ऐसे भी मिले जो तय राशि में खुद के पैसे जोड़कर बेहतर वर्दी खरीद लेते थे। अलग-अलग जगह से खरीदारी के कारण उनकी वर्दी का रंग और गुणवत्ता भिन्न होती जिससे होमगार्ड के जवानों में एकरूपता नहीं आ पाती। नई व्यवस्था का उद्देश्य है कि सभी जवान एक तरह की वर्दी में दिखाई दें।

Source- Jagran