समस्तीपुर।परस्पर सहयोग से बाल विवाह व बालश्रम मुक्त बनेगा समाज

समस्तीपुर । वारिसनगर प्रखंड कार्यालय स्थित सभागार में गुरुवार को बाल विवाह और बालश्रम मुक्ति को लेकर बच्चों की सुरक्षा और संरक्षण के लिए चाइल्ड लाइन की बैठक हुई। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय,भारत सरकार के सहयोग से प्रयास जुवेनाइल एड सेंटर के द्वारा प्रखंड स्तरीय चाइल्ड लाइन सलाहकार परिषद की बैठक आयोजित की गई। अध्यक्षता प्रखंड विकास पदाधिकारी अजमल परवेज ने की। उन्होंने आगत सदस्यों का स्वागत करते हुए कहा कि हम सब मिलकर संवेदनशीलता के साथ काम करेंगे तो प्रखंड बाल विवाह और बालश्रम मुक्त होगा। उन्होंने पॉस्को अधिनियम और बाल विवाह निषेध अधिनियम की जानकारी देते हुए शिक्षा विभाग और बाल विकास परियोजना पदाधिकारी से कहा कि प्रत्येक विद्यालय और आंगनवाड़ी केन्द्रों में चाइल्ड लाइन के राष्ट्रीय निशुल्क फोन सेवा 1098 से संबंधित दीवार लेखन कराना सुनिश्चित करें। प्रखंड समन्वयक राकेश मंडल ने बताया कि बच्चों के सम्पूर्ण अधिकारों की सुरक्षा और संरक्षण के लिए चाइल्ड लाइन समर्पित है। टीम लीडर सोनेलाल ठाकुर, सदस्य मुकेश कुमार सिंह, रंजीत कुमार एवं अजीत कुमार ने संयुक्त रूप से बताया कि यदि चाइल्ड लाइन परियोजना को सभी संबंधित सरकारी विभाग का सहयोग और समर्थन समय-समय पर मिलता रहे तो बाल विवाह और बालश्रम को रोक पाना संभव होगा। सीओ कमल कुमार ने बाल विवाह को रोकने के लिए सामुदायिक और सामाजिक पहल ज्यादा कारगर होने की बात कही। बीआरपी चंद्रभूषण ठाकुर ने बच्चों को समय पर स्कूल में जोड़ने और उसे नियमित कराए जाने से बालश्रम और बाल विवाह के साथ बाल यौन शोषण या बाल व्यापार के विरुद्ध एक अभियान चलाने की आवश्यकता पर बल दिया। जिसमें बच्चों के माता-पिता की कोशिश ज्यादा कारगर साबित होने की बात कही। मौके पर प्रखंड प्रमुख रामा साह, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. रामचंद्र महतो, प्रखंड कृषि पदाधिकारी उपेंद्र प्रसाद, महिला पर्यवेक्षिका पूनम, सअनि राजीव कुमार, स्वास्थ्य प्रबंधक रंजीत कुमार प्रसाद, प्रधान लिपिक आदि मौजूद रहे।