मुजफ्फरपुर: कोर्ट में प्रेमी-प्रेमिका ने रचायी शादी, थाने में बवाल, मां का रो-रोकर बुरा हाल…

कोर्ट में शादी करने के बाद सुरक्षा की गुहार लगाने प्रेमी युगल सोमवार को सदर थाना पहुंचा। दोनों ने कोर्ट में शादी करने का और बालिग होने का प्रमाण पत्र भी सौंपा। पुलिस ने पूछताछ करने के बाद दोनों को थाना पर बैठाया। युवक ने बताया कि उन दोनों को स्वजनों का डर सता रहा है। कहा कि अगर घर गए तो अनहोनी हो सकती है। इसलिए पुलिस के पास आएं हैं। कुछ देर बाद दोनों को स्वजनों को इसकी खबर लग गई।

वे लोग सदर थाना पहुंचे। बेटी की शादी की बात सुनते ही उसकी मां जमीन पर गिरकर बेहोश हो गई। अन्य महिलाओं ने उसे पानी का छींटा मारकर होश में लाया। दोनों पक्ष थाना पर ही हंगामा करने लगे। एएसआइ जीएस ठाकुर और राजू चौधरी ने सभी को समझाकर शांत कराया। स्थानीय मुखिया पति राजकुमार ठाकुर भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि दोनों पक्ष से बातचीत कर मामले को सुलझाने का प्रयास किया जा रहा है।

गलत नाम बता मोल ली मुसीबत :

लड़का-लड़की दोनों सदर थाना क्षेत्र के ही रहने वाले हैं। घर भी आसपास है। युवक ने कहा कि सात साल से युवती से उसकी पहचान है। घरवाले इस रिश्ते के खिलाफ थे। इसलिए भाग कर शादी करने का फैसला किया। इसी दौरान थाना पर युवक का एक साथी भी पहुंचा। पुलिस ने जब उससे नाम पूछा तो उसने गलत बताया। सख्ती से पूछने पर सही नाम बताया। इसके बाद उसे पुलिस को दिग्भ्रमित करने के आरोप में हिरासत में लिया गया।

पूर्व में हुआ था विवाद :

युवक ने बताया कि वह पटना में सब्जी बेचता है। युवती इंटर पास कर चुकी है। उसके पिता भी पटना में ही मेहनत मजदूरी करते हैं। युवक के स्वजन ने युवती के स्वजनों से रिश्ते की बात की थी। उनलोगों ने इसका विरोध किया। इसे लेकर विवाद भी हुआ था। इसी के बाद दोनों ने एक होने का निर्णय लिया। थानाध्यक्ष सत्येंद्र सिन्हा ने कहा कि युवक-युवती द्वारा दिए गए कागजात की जांच की जा रही है। इसके बाद आगे का निर्णय लिया जाएगा।

Input: Dainik Jagran