समस्तीपुर-पूसा में गंगापुर के इस परिवार में रहते कई आइएएस व आइपीएस

समस्तीपुर जिले के पूसा प्रखंड का गांव गंगापुर अपने सपूत डाक्टर राजीव रंजन की उपलब्धि पर गौरवान्वित है। उन्होंने अपनी मेधा की बदौलत देश के सुदूर दक्षिण के तमिलनाडु प्रदेश में मुख्य सचिव का पद प्राप्त किया है।

समस्तीपुर । समस्तीपुर जिले के पूसा प्रखंड का गांव गंगापुर अपने सपूत डाक्टर राजीव रंजन की उपलब्धि पर गौरवान्वित है। उन्होंने अपनी मेधा की बदौलत देश के सुदूर दक्षिण के तमिलनाडु प्रदेश में मुख्य सचिव का पद प्राप्त किया है। वे शुरू से ही मेधावी रहे हैं। राजीव नेतरहाट विद्यालय के बिहार टॉपर भी रहे हैं। पटना विश्वविद्यालय से भौतिक शास्त्र स्नातक परीक्षा के भी बिहार टॉपर बने। राजीव भारतीय प्रशासनिक सेवा के 1985 बैच के अधिकारी हैं। इन्होंने आइआइएम अहमदाबाद से एम बी ए किया। पब्लिक पॉलिसी में लंदन स्कूल आफ इकोनामिक्स से एक अन्य पीजी की डिग्री प्राप्त की। यूनिवर्सिटी आफ जनेवा से इंटलैक्चुअल प्रोपर्टी राइट्स की पढ़ाई की।

उन्होंने अन्ना विश्व विद्यालय से पीएचडी भी किया। 35 वर्षों की सेवा में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य करते हुए अपनी छाप छोड़ी। केंद्र के उद्योग एवं वाणिज्य मंत्रालय के अधीन डिपार्टमेंट आफ इंडस्ट्रियल पालिसी एंड प्रमोशन के वह निदेशक रहे।सात वर्षों तक लगातार उन्होनें इस काम को देखा। तमिलनाडु में उद्योग विभाग के प्रधान सचिव पद पर रहे।वर्ष 2018 में जब वे केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर थे तब उस दौरान उन्हे जी एस टी कांउसिल में विशेष सचिव बनाया गया। मार्च 2020 में वे मत्स्य सचिव बने और तब 20,050 करोड़ की प्रधान मंत्री मत्स्य संपदा योजना को लांच करने का श्रेय भी डाक्टर राजीव रंजन को ही जाता है।पिता प्रभुनारायण राय इंजीनियर रहे हैं।वे बोकारो स्टील प्लांट के मुख्य महाप्रबंधक पद से अवकाश ग्रहण किया है।फिलवक्त बोकारो में ही रह रहे हैं।उनसे मोबाईल पर बात हुई।उन्होनें बताया कि उनके तीन पुत्रों में राजीव सबसे बडे़ हैं।राजीव का विवाह पूर्व गृह सचिव एवं उप राज्यपाल बाल्मिकी प्रसाद सिंह की पुत्री प्रीती रंजन से हुई। प्रीती गृहिणी हैं। उनके दूसरे पुत्र संजीव रंजन भी भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी हैं। कुछ दिनों पूर्व तक त्रिपुरा राज्य के मुख्य सचिव पद पर थे।अब दिल्ली में शीपींग ट्रांसपोर्ट,वाटर वेज मंत्रालय में सचिव पद पर हैं। संजीव की पत्नी डाक्टर संध्या रंजन संसद हास्पीटल में विभागाध्यक्ष है।

तीसरे पुत्र डाक्टर रवि रंजन अमेरिका के साल्ट लेक सिटी में कार्डियोलौजी में प्रोफेसर हैं ।उनकी पत्नी वत्सला रंजन आर्किटेक्ट एंड प्लानिग में अमेरिका में ही कार्यरत है। इनके परिवार के डाक्टर राम परीक्षण राय पटना विश्वविद्यालय के सांइस कालेज मे बॉटनी के एच ओ डी थे। राम परीक्षण बाबू के पुत्र राजेश रंजन भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी हुए। राजेश रंजन सीआइएसएफ के महानिदेशक पद से नवंबर महीने में अवकाश ग्रहण किया है। प्रभुनारायण राय के बडे़ भाई त्रिवेणी राय के दामाद अभयानंद हैं। अभयानंद बिहार के पुलिस महानिदेशक पद से अवकाश ग्रहण किया है।प्रभु बाबू बताते हैं कि गांव से उन लोगों का जुड़ाव बना हुआ है। छठ पर्व के अवसर पर निश्चित रुप से गंगापुर आते हैं। इस बार कोविड को लेकर नहीं आ सके। गंगापुर गांव के वार्ड संख्या 8 में इनकी पुश्तैनी हवेली है। गांव में इन लोगों की खेतीबाड़ी की देखभाल वरीय अधिवक्ता रघुनाथ शरण राय के जिम्मे हैं।रघुनाथ शरण राय,मनोरंजन कुमार सहित अन्य ग्रामीणों ने बताया कि डाक्टर राजीव रंजन के तमिलनाडु में मुख्य सचिव बनने की सूचना मिलते ही गांव में लोग खुशी से झूम उठे।बहरहाल इस परिवार के सपूतों पर न सिर्फ गांव गंगापुर बल्कि पूरे पूसा प्रखंड को नाज है।