जयंत राज : बिहार कैबिनेट का सबसे युवा चेहरा, आखिर क्यों नीतीश ने जताया भरोसा, जानिए इनके बारे में

नीतीश मंत्रिमंडल में सबसे युवा चेहरे के तौर पर शामिल हुए जयंत राज ने सियासी पिच पर उतरते ही रिकॉर्ड का’यम कर लिया है। जी हां, बांका के अमरपुर विधानसभा क्षेत्र से पहली द’फा चुनाव ल’ड़े जयंत राज ने जिले में सबसे कम उम्र में MLA बनने का रिकॉर्ड बनाया और इसके साथ ही कम उम्र में मंत्री भी बनकर सियासी जानकारों को भी चौं’का दिया है।

नीतीश कैबिनेट में शामिल हुए जयंत राज मात्र 35 साल के हैं और वे मंत्रिमंडल के सबसे युवा चेहरे (Young face of Nitish cabinet) हैं। उन्हें ग्रामीण कार्य मंत्री की जिम्मेदारी मिली है। वि’रासत में मिली सियासत के बाद पहली बार राजनीति में उतरे जयंत राज की छवि काफी साफ-सुथरी है। वे कुशवाहा समाज से आते हैं। उनके पिता जनार्दन मांझी भी विधायक रहे हैं और बेलहर से एक और अमरपुर से दो बार विधायक रह चुके हैं।

चमत्कार से कम नहीं है मंत्री बनना

मूल रूप से बौंसी सिंघेश्वरी के रहने वाले जयंत राज ने भागलपुर मारवाड़ी कॉलेज से साल 2010 में BBA किया है। उन्होंने स्कूलिंग सीएनडी से की है। कभी बेहतर मैनेजमेंट की बदौलत अपना कैरियर को प’रवाज देने का सपना देखने वाले जयंतराज के लिए सियासत में आना और आते ही मंत्री बनना च’मत्कार से कम नहीं है।

विदित है कि साल 2020 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में जयंतराज ने अमरपुर विधानसभा सीट पर कम मार्जिन से जीत हासिल की थी। उन्होंने कांग्रेस के जितेन्द्र सिंह को 3114 वोटों से मा’त दी थी। जयंत राज को कुल 54 हजार 308 मत मिले थे। वहीं, इसी सीट पर लोजपा के मृणाल शेखर को कुल 40 हजार 308 मत मिले थे और वे तीसरे स्थान पर रहे थे।

फिलहाल नीतीश मंत्रिमंडल में जगह मिलने के बाद ग्रामीण कार्य मंत्री जयंतराज से अब प्रदेशवासियों को ढेर सारी आशाएं हैं, जिसपर उन्हें ख’रा उतरना होगा।