बिहार सरकार की इस स्‍कीम से लड़कियों को मिल रहे एक लाख रुपये, पटना में 30 हजार बच्चियों को मिला लाभ

बिहार सरकार की इस स्‍कीम से लड़कियों को मिल रहे एक लाख रुपये, पटना में 30 हजार बच्चियों को मिला लाभ

बिहार की बेटियों को सशक्त करने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पहल पर कन्या उत्थान योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना के तहत बिहार में बेटियों को जन्‍म से लेकर पढ़ाई-लिखाई की उम्र तक करीब एक लाख रुपये की मदद सरकार की ओर से मिल रही है। पटना जिले में 23 जून 2018 के बाद से अब तक 30 हजार 138 बेटियों को इस योजना का लाभ मिल चुका है। इस योजना के तहत राशि लगातार बढ़ाई जा रही है। इस आधार पर कहा जा सकता है कि बिहार में अब जन्‍म लेने वाली बच्चियों को इस योजना के तहत एक लाख से भी अधिक रुपये सरकार से मिल सकेंगे।

बिहार में यह योजना शुरू होने के बाद जहां एक ओर लिंगानुपात में बेहतरी हुई है, वहीं दूसरी ओर बेटियों के स्कूल जाने की संख्या में भी जबर्दस्त इजाफा हुआ है। लड़कियों को पोशाक देने से शुरू की गई इस योजना में अब स्नातक उत्तीर्ण होने पर मिलने वाली प्रोत्साहन राशि भी शामिल हो गई है। दो फरवरी को मंत्रिमंडल के निर्णय के बाद अब जन्म से लेकर स्नातक उत्तीर्ण होने तक एक बेटी को 94 हजार एक सौ रुपये मिल सकेंगे।

बाढ़ व अथमलगोला : 1894

मनेर : 1519

मसौढ़ी : 1548

फतुहा व दनियावां : 1615

मोकामा : 1422

बख्तियारपुर : 1414

दानापुर : 1354

बिहटा : 1532

पुनपुन व संपतचक : 1163

दुल्हिन बाजार : 689

नौबतपुर : 1064

पालीगंज : 1176

बिक्रम : 768

जिले का आंकड़ा

कुल लाभान्वित : 30138

भुगतान भेजा गया : 21676

54100 से 94100 हो गई कन्या उत्थान में मिलने वाली राशि

जन्म पर : 2000

आधार पंजीकरण पर (एक वर्ष पूरा होने के बाद) : 1000

संपूर्ण टीकाकरण पर (दो वर्ष पूरा होने के बाद) : 2000

वर्ग एक व दो में पोशाक : 600 प्रतिवर्ष

वर्ग तीन से पांच तक पोशाक : 700 प्रतिवर्ष

वर्ग छह से आठ तक पोशाक : 1000 प्रतिवर्ष

वर्ग नौ से बारह तक पोशाक : 1500 प्रतिवर्ष

वर्ग सात से बारह तक सैनिटरी : 300 प्रतिवर्ष

इंटर उत्तीर्ण होने पर (अविवाहित) : 25000

स्नातक उत्तीर्ण : 50000

कहां करें आवेदन और कैसे लें लाभ

मुख्यमंत्री कन्या उत्थान कई विभागों की समेकित योजना है। समाज कल्याण विभाग इसकी नोडल एजेंसी है। इस योजना का लाभ लेने के लिए कन्या के जन्म के बाद सबसे पहले आंगनबाड़ी, स्वास्थ्य केंद्र या आरटीपीएस पर आवेदन दिया जा सकेगा। जन्म के बाद मिलने वाली राशि इसी आधार पर मिलेगी। आधार पंजीकरण के बाद की राशि आंगनबाड़ी केंद्र या आरटीपीएस पर आवेदन से प्राप्त होगी। टीकाकरण के बाद की राशि नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर आवेदन के बाद मिलती है। इसके अतिरिक्त अन्य सभी राशि स्कूल और कॉलेज में प्रवेश के बाद दी जाती है। योजना के लिए ऑनलाइन भी आवेदन किया जा सकता है। इसके लिए icdsonline.bih.nic.in/AANGAN लिंक पर जाकर आवेदन किया जा सकता है।

योजना के उद्देश्य

कन्या भ्रूण हत्या रोकना बालिका शिशु मृत्यु दर में कमी लाना बालिका शिक्षा में वृद्धि लाना बाल-विवाह पर अंकुश लगाना

आइसीडीएस की जिला कार्यक्रम पदाधिकारी भारतीय प्रियंवदा ने बताया कि मुख्यमंत्री कन्या उत्थान माता-पिता की दो बेटियों को दिए जाने का प्रावधान है। पहले जन्म से लेकर स्नातक तक बेटियों को 54100 रुपये की सहायता दी जाती थी। दो फरवरी को राज्य मंत्रिमंडल की स्वीकृति के बाद अब 94100 रुपये मिल सकेंगे। अलग-अलग चरणों में अलग-अलग विभागों द्वारा राशि प्रदान की जाती है।

Input-Hindustan