बिहार: इंजीनियर की नौकरी छोड़ बने BJP के विधायक, अब क्रैक किया BPSC का एग्जाम

सीतामढ़ी के बथनाहा सुरक्षित क्षेत्र से भाजपा के विधायक अनिल राम (BJP MLA Anil Ram) अपनी योग्यता को लेकर इन दिनों चर्चा में हैं. अनिल कुमार राम को बीपीएससी (असिस्टेंट इंजीनियर) मेंस की परीक्षा में सफलता मिली है. हाल ही में संपन्न विधानसभा चुनाव में सीतामढ़ी जिले में सर्वाधिक मतों से चुनाव जीतने वाले विधायक अनिल राम ने बीपीएससी की परीक्षा में उतीर्ण होकर सुर्खियां बटोरी हैं. वर्ष 2017 में हुई बीपीएससी की मुख्य परीक्षा का रिजल्ट पेन्डिंग था जो तीन दिन पहले प्रकाशित हुआ है. इसमें विधायक ने सफलता हासिल की है.

विधायक बनने से पहले वह बिरला इंस्‍टीट्यूट आंफ टेक्नोलॉजी से सिविल इंजिनियरिंग की डिग्री भी ले चुके हैं. भाजपा विधायक अनिल राम राजनीति में आने से पहले झारखंड सरकार में डिजाइन इंजीनियर के पद पर थे. रिलायंस इंडस्ट्रीज में भी विधायक अनिल राम बतौर इंजीनियर के पद पर काम कर चुके हैं. बीपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल करने के बाद भी अनिल राम सरकारी नौकरी नहीं करना चाहते हैं.

उनका कहना है कि वो जनप्रतिनिधि के रूप में ही देश और राज्य की सेवा करना चाहते हैं. सीतामढ़ी के पुपरी के सिगराही गांव मे जन्मे अनिल राम का कहना है कि राजनीति एक बेहतर प्लेटफॉर्म है जहां रहकर लोग बहुत कुछ कर सकते हैं और लोगों की सेवा करने का यह बेहतर माध्यम है.

दरअसल, बिहार में विधायक (MLA) आमतौर पर या तो अपने बयान, अनोखे अंदाज या फिर दबंगई को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहते हैं. कभी कोई विधायक मारपीट के मामले को लेकर अचानक मीडिया में सुर्खियां बटोरता है, तो कभी कोई एमएलए किसी संगीन मामलों को लेकर चर्चा में आ जाता है.

अक्सर चुनाव लड़ने वाले लोगों की योग्यता पर सवाल आम लोग उठाते रहे हैं. लोगों का यह भी कहना होता है कि जिस तरीके से सभी क्षेत्रों में शिक्षा को आधार माना जाता है, ठीक उसी तरीके से राजनीति में शिक्षा की योग्यता अनिवार्य होनी चाहिए. अब बिहार के एक विधायक ने इसी योग्यता को सिद्ध कर दिखाया है.

Input- News 18